Apply as Yog Pracharak

“ आज योग प्रचारक प्रकल्प सम्पूर्ण देश में योग के सेवाक्षेत्र में अग्रणी नाम है, जिसके साथ जुड़कर युवा राष्ट्रभक्ति, गुरु भक्ति एवं भगवत भक्ति के आश्रय में योग, आयुर्वेद, स्वदेशी एवं भारतीय धर्म-दर्शन संस्कृति के प्रचार प्रसार करने को आगे आ रहे हैं और अपने जीवन को सेवा के लिए समर्पित करते हुए गर्व अनुभव कर रहे हैं ।
योग कि सेवा में जीवन को लगा देना, आज के समय में सर्वोत्तम अवसर एवं सौभाग्य है । धन तो व्यक्ति अन्याय से भी कमा लेता है लेकिन योग के क्षेत्र में सेवा करते करते, आमजनमानस को आरोग्य प्रदान करते हुए, धर्म-अध्यात्म की ओर आम जनमानस को उन्मुख करते हुए, गुरु प्रसाद के रूप में मानदेय प्राप्त करने का सौभाग्य विरले लोगों को ही मिलता है ।
परम पूज्य महाराज श्री ने देशवासियों को यह आश्वासन दिया है कि पतंजलि का 100% प्रॉफिट 100% देश की सेवा हेतु समर्पित है, इसी संकल्प के आधार पर पतंजलि योगपीठ ने प्रचारक प्रकल्प के अंतर्गत गाँव-गाँव, व्यक्ति-व्यक्ति तक योग, आयुर्वेद एवं स्वदेशी के प्रायोगिक दर्शन को पहुँचाने के लिए, ऐसे युवा भाई-बहनों का आह्वान करता है जो योग,आयुर्वेद एवं स्वदेशी दर्शन जो जीता हो, इन सेवा के माध्यमों से अपने जिले में कार्य कर सकता हो ।

योग प्रचारक बनने के लिए आवश्यक नियम एवं अर्हताएं:

  1. शिक्षा-स्नातक/परास्नातक पास या योग के क्षेत्र में स्नातक/डिप्लोमा
  2. अनुभव-(क) प्रतिभागी के पास योग कक्षा लेने का कम से कम 2 वर्ष का अनुभव
    (ख) दोपहिया वाहन चलाने का अनुभव हो एवं दोपहिया वाहन हो
    (ग) MS word/MS Excel पर सामान्य रूप से कार्य करने का अनुभव हो
    (घ) ळउंपस पर कार्य करने का अनुभव तथा एंड्राॅयड मोबाइल हो।
    (ङ) सोशल मीडिया (फेसबुक/ट्विटर एवं instagram) पर सक्रिय अकाउंट हो और फेसबुक पर ३००० मित्र से अधिक हों
  3. आयु – 20 से 35 साल
  4. आवश्यक सत्यापित प्रमाणपत्रः- चयनित होने पर प्रतिभागी को अपना ड्राइविंग लाइसेंस, 4 पासपोर्ट साइज फोटो और शैक्षणिक प्रमाण पत्रों की फोटो कॉपी यह सब योग प्रचारक प्रकल्प को जमा करनी होगी ।
  5. (क) योग प्रचारक वेष-भूषा एवं परिधानः योग प्रचारक के वस्त्र सादगी भरे होने चाहिये । श्वेत कुर्ता-पाजामा, कुर्ता-धोती या मुख्यालय द्वारा चयनित गणवेश ही योग प्रचारक को पहनना अनिवार्य है । जींस या अन्य फैशन वाले वस्त्रों में योग प्रचारक को योग नही कराना होगा ।
    (ख) योग प्रचारिका की वेष-भूषा एवं परिधान: योग प्रचारिका बहनों के केश विन्यास शालीनतापूर्वक होना चाहिए । मुख्यालय द्वारा प्रदत्त कुर्ती एवं शालीन वस्त्रों को पहनकर ही योग- प्रचारिकाय योग करायेंगी ।
  6. शारीरिक सौष्ठव – योग प्रचारक का भार 70 किलो से अधिक नही होना चाहिए । सिर में शिखा और जनेऊ अनिवार्य रूप से होना चाहिए ।
  7. लिखित परीक्षा : प्रश्न-पत्र कुल 100 अंक का होगा । प्रश्न-पत्र में 40 अंक के बहुविकल्पीय प्रश्न और 60 अंक के अतिलघु उत्तरीय प्रश्न होंगे । समयावधि: 1:30 घण्टा
  8. साक्षात्कार से पूर्व एक माह का सेवा कार्य – जो भी भाई-बहन योग प्रचारक के लिये आवेदन करेंगे उन्हें साक्षात्कार के समय निम्न एक माह का कार्य फोटो सहित प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा जिससे की योग प्रचारक कार्यालय आवेदनकर्ता का सेवा अनुभव का मुल्यांकन कर सकें
    (क) 5 दिवसीय योग शिविर – कुल 5 शिविर
    (ख) 1 दिवसीय विद्यालय शिविर – कुल 10
    (ग) आरोग्य सभा – कुल 20