Guidelines for Yog Pracharak

नियमित योग कक्षा से सम्बंधित आवश्यक निर्देश :
१. आपको नियमित योग कक्षा के लिए बैनर की सीडीआर फाइल ( जिसे आप कम्प्यूटर वाले से एडिट करवा सकते हैं ) दी जा रही है | आपके द्वारा लगाये गए ५ दिवसीय योग पशिविर में जो भी भाई-बहन नियमित योग शिक्षक बनाये जाते हैं उन्हें आपको ये बैनर अपने नाम एवं योग शिक्षक के नाम type करके देना है | हरिद्वार से निरीक्षण के लिए आने वाले निरीक्षक भाई गाँव-गाँव जाकर आपकी कक्षा को चेक करेंगे और बैनर लगा है या नही यह भी देखेंगे |

२. नियमित योग शिक्षक का सही नाम एवं फ़ोन नम्बर प्रकल्प को app के माध्यम से भेजें, यह डेटा वेबसाइट पर प्रस्तुत किया जा रहा है अतः हमें एक भी नाम और नंबर गलत न भेजें | आपके जिला प्रभारी वेबसाइट से नाम एवं फ़ोन नंबर लेकर नियमित योग शिक्षक से संपर्क करेंगे अतः विशेष ध्यान दें इस बात पर | यदि इस रिपोर्ट में किसी भी प्रकार की त्रुटि पाई जाती है तो इससे आपके मूल्यांकन पर प्रभाव पड़ेगा |

३. एक माह में आप अधिक से अधिक ५ या ६ नियमित योग शिक्षक ही बना सकते हैं अतः प्रतिमाह ६ योग शिक्षकों से संपर्क रखना कोई कठिन कार्य नहीं है, प्रकल्प चाहता है कि आप अपने नियमित योग शिक्षकों से संपर्क में रहें और उन्हें निरंतर कक्षा चलाने के लिए प्रेरित करते रहें | Whats App एवं आगे बोलो चैट के माध्यम से आप उनसे जुड़े रहें और उनका कक्षा विषयक मार्गदर्शन करते रहें | भविष्य में हम उन नियमित योग शिक्षकों का शिविर भी पतंजलि हरिद्वार में आयोजित करेंगे अतः आप उन्हें नियमित रूप से साधक-उपस्तिथि रजिस्टर बनाने के लिए भी कहें |

४. जिस गाँव में आपने नियमित योग कक्षा स्थापित की है वहां बैनर के साथ फोटो खींच कर शोशल मीडिया पर अपलोड करें और साथ ही उसकी रिपोर्टिंग प्रकल्प को भी इ-मेल के माध्यम भेजें |

सेवा-कार्यों के सम्बन्ध में आवश्यक निर्देश :

१. प्रत्येक ५ दिवसीय योग शिविर के अंतर्गत सभी गतिविधियाँ करना आवश्यक है | आप अधिक से अधिक वृक्षारोपण, रैली, नशा-मुक्ति अभियान, बाल संस्कार, हवन, स्वच्छता अभियान, विद्यालय शिविर, आरोग्य सभा एवं दान संग्रह करें जिससे प्रकल्प के सेवा-प्रकल्प अपने गौरव को प्राप्त करें | हम आपसे आशा करते हैं कि आप अधिक से अधिक सेवा-कार्यों को कर स्वयं का एवं गुरु, संस्थान का मान बढाईये |

दान-संग्रह विषयक आवश्यक निर्देश:

१. आपके लिए यह भी आवश्यक है कि आप प्रति शिविर कम से कम २५० (250/-) रुपये का दान संग्रह करने का संकल्प करें , हमें संस्थान के सात्विक कार्यों के लिए आम-जनमानस की आहुति भी अपेक्षित है और हम चाहते हैं कि आप इसमें सहयोग करें |
२. प्रकल्प द्वारा आपको दी गई रसीद की पूर्ण रक्षा करें, उसे खोएं नहीं | आप यदि संकल्पित हों तो प्रत्येक शिविर में २५० से लेकर १००० तक दान-संग्रह कर सकते हैं | संस्थान को आपके द्वारा किया आर्थिक सहयोग, संस्थान को आगे बढ़ाने में सहायता करेगा और इससे प्रकल्प एवं आपका मान बढेगा |
३. जिस भी दान-दाता से आप दान संग्रह करते हैं उसे योगपीठ की रसीद अवश्य दें | हम प्रत्येक दान दाता से फ़ोन के माध्यम से संपर्क करेंगे और उनसे इस विषय में भी पूछेंगे कि उन्हें रसीद बुक प्राप्त हुई है या नहीं | प्रत्येक दान दाता को मुख्यालय से एक स्वागत फ़ोन कॉल भी की जाएगी इससे आपको भी बल मिलेगा और आपके विषय में एक प्रमाणिकता लोगों में दान दाता के माध्यम से बनी रहेगी | संस्थान के बारे में इससे और अधिक विश्वास लोगों में बढेगा |
४. प्रत्येक रसीद को ठीक ढंग से काटें जैसे आपको मुख्यालय में आदरणीय सुखराम जी द्वारा निर्देशित हुआ है | कार्बन कॉपी का प्रयोग अवश्य करें और रसीद बुक को पूरा भरें ( दान दाता का नाम , संपर्क सूत्र, दान राशि, एवं दान दाता का घर का पता आदि स्पष्ट लिखें ) | रसीद बुक को भरने में किसी भी प्रकार का प्रमाद/आलस्य न करें |
५. यदि कोई रसीद बुक का पूर्ण प्रयोग आप कर लेते हैं तो उससे प्राप्त दान राशि को आप भारत स्वाभिमान न्यास के अकाउंट में जमा करा दें और बैंक की रसीद अपने रसीद बुक पर संलग्न कर दें | प्रत्येक रसीद बुक का हिसाब रसीद के सबसे पिछले पेज के अन्दर वाले पेज पर रसीद संख्या के अनुसार लिख देवें |
६. यदि योग निरीक्षक आपके पास निरीक्षण के लिए आते हैं तो आप कटी हुई रसीद बुक और बैंक स्लिप उन्हें मुख्यलय में जमा करने हेतु दे सकते हैं जिससे कि आपका दान विषयक कार्य मुख्यालय आने से पूर्व ही पूर्ण हो जाये |
७. प्रत्येक शिविर की समाप्ति पर हवन के माध्यम से सामूहिक दान को आप ग्राम प्रधान अथवा ग्राम समिति के नाम से काट सकते हैं | आप हवन के माध्यम से सात्विक दान संग्रह कर सकते हैं |

मोबाइल app के प्रयोग से सम्बंधित निर्देश:
१. दान संग्रह की app के माध्यम से रिपोर्ट करते समय आपको सही रसीद बुक का नंबर अवश्य देना है | दान दाता का पूरा नाम और सही फ़ोन नंबर ही आपको app के माध्यम से भेजना है
२. प्रत्येक ५ दिवसीय शिविर में प्रतिभाग करने वाले योग साधकों की सूची आपको अनिवार्य रूप से app के माध्यम से हमें भेजनी है, लेकिन ध्यान रखें कि आप केवल वास्तविक डेटा ही रिपोर्ट करें | सभी साधकों के फ़ोन नंबर सही होने चाहिए और आपके द्वारा उन्हें बताया हो कि आपका नाम हम पतंजलि योगपीठ भेज रहे हैं | किसी भी प्रकार के गलत नाम आप प्रकल्प को रिपोर्ट नहीं करेंगे | प्रकल्प के द्वारा उन भाई-बहनों से बात भी की जाएगी | ध्यान रखें की योग शिक्षक पर आप क्लिक न करें जब आप केवल साधकों की सूची भेज रहे हों |
३. आपको प्रत्येक माह, जिले में होने वाले मासिक बैठक में अवश्य प्रतिभाग करना है और मीटिंग की एक फोटो और उपस्थिति रजिस्टर की फोटो अपने app में रिपोर्ट वाले सेक्शन के माध्यम से भेजनी है | इस बारे में आप अपने योग निरीक्षक से बात कर सकते हैं | यदि आपके जिले में मासिक बैठक नहीं होती है तो वो भी आप अपने app के माध्यम से हमें रिपोर्ट करेंगे |
४.नियमित योग शिक्षक का सही नाम एवं फ़ोन नम्बर प्रकल्प को app के माध्यम से भेजें, यह डेटा वेबसाइट पर प्रस्तुत किया जाता है अतः हमें एक भी नाम और नंबर गलत न भेजें | आपके जिला प्रभारी वेबसाइट से नाम एवं फ़ोन नंबर लेकर नियमित योग शिक्षक से संपर्क करेंगे अतः विशेष ध्यान दें इस बात पर | नियमित योग शिक्षक का डेटा देते समय ध्यान रखें कि (योग शिक्षक पर क्लिक करें आप)
५.केवल जो निश्चित/कन्फर्म कैंप हों प्रारंभ में आप उन्हें ही क्रिएट करें | edit विकल्प का हमें न्यून से न्यून प्रयोग करना है |
६. कैंप क्रिएट करते समय आपको लोकेशन का चयन करते समय समस्या आती है तो सर्च विकल्प (Search option) में अपने तहसील या प्रसिद्ध स्थल को type करें और जब map में वो स्थान दिखाई दे तो उसके आस पास map को ज़ूम इन और ज़ूम आउट करके गाँव या गाँव के पास के स्थान को चुन ले और फिर कन्फर्म बटन दबा दें | app स्वत: ही जगह का नाम और आपके घर से दुरी कि गणना कर लेगा | यदि place वाले खाने में शिविर का स्थल ठीक आ रहा हो तो ठीक है अन्यथा आप place वाले खाने में शिविर का वास्तविक पता स्वयं से लिख दें | इसके बाद आप आयोजक का नाम और संपर्क सूत्र लिखकर सबमिट बटन दबा दें | इस प्रकार से आपका ५ दिवसीय योग शिविर का निर्माण हो जायेगा और आप गतिविधयों को करने में सक्षम हो जायेंगे |
७. जब आप गतिविधि में जाकर योग कक्षा की फोटो लेते हैं तो वहां description में केवल योग साधकों की संख्या लिख दें जिससे हम आपके द्वारा तैयार किये जा रहे योग साधकों की सूची बना सकें और यह विश्व के इतिहास में पहला प्रयास होगा जहाँ हम योग साधकों की संख्या की गणना कर रहे हैं, इसके लिए आप सबका सहयोग चाहिए |
अ. विद्यालय शिविर में फोटो सबमिट करते समय आप, description में आप स्कूल का नाम और प्रधानाध्यापक का नाम और नंबर लिखें इससे प्रकल्प के सेवा-कार्यों में अत्यधिक प्रमाणिकता आयेगी | description का सदैव ध्यान रखें|
आ. आरोग्य सभा में फोटो सबमिट करते समय आप description में गाँव का नाम और लोगों की संख्या लिखें |
इ. वृक्षारोपण की फोटो डालने के समय आप description में पौधें का नाम लिख दें | यह बहुत आवश्यक है कि हम पौधें का नाम लिखें इसमें कोई प्रमाद न करें |
ई. प्रेस-नोट की description में समाचार पत्र का नाम लिख दें इसी प्रकार अन्य गतिविधियों में आप जहाँ संख्या आवश्यक हो संख्या अन्यथा कुछ सम्बंधित सूचना लिख दें | description के लिए दिए गए निर्देशों का अच्छे से पालन करें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *